ताजमहल को UP Tourism में स्थान न देना का वायरल सच

ताजमहल को UP Tourism में स्थान न देना का वायरल सच

ताजमहल को UP Tourism में स्थान न देना का वायरल सच

 

 

ताजमहल जोकि देश की एक अनमोल धरोहर है और दुनिया के सात अजूबों में से एक है। ताजमहल official साइट के अनुसार हर साल 70 से 80 लाख पर्यटक ताजमहल को देखने आते है जिनमें से लगभग 8 लाख पर्यटक विदेशी होते है। उत्तर प्रदेश सरकार को ताजमहल से 2016-17 में लगभग 8 करोड़ से भी ज्यादा मुनाफा हुआ। तो फिर उत्तर प्रदेश सरकार ने ताजमहल को क्यों पर्यटन सूची से बाहर निकाल दिया।

वायरल खबर:-

Social Media पर हो रहे वायरल खबरों की मानें तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने ताजमहल को उत्तर प्रदेश की पर्यटन सूची में स्थान सिर्फ इसलिए नहीं दिया क्योंकि योगी जी ताजमहल को भारतीय संस्कृति का हिस्सा नही मानते। कुछ लोगों ने तो यहाँ तक भी कहा कि क्योंकि ताजमहल को बनवाने वाले शाहजहां एक मुस्लिम थे इस वजह से योगी जी ने ताजमहल को पर्यटन सूची में जगह नहीं दी। कुछ बड़े नेताओं ने भी tweet के जरिये अपना गुस्सा जाहिर किया।

ashutosh on tajmahal

यहाँ तक कि congress ने भी ये मौका नहीं छोड़ा, Office of RG ने अपने official account से tweet किया

officeofrg-tweet-about-tajmahal-yogi

ताजमहल को UP Tourism में स्थान न देना का वायरल सच

ताजमहल आज पूरी दुनिया में जाना माना पर्यटन स्थल है। और उत्तर प्रदेश सरकार प्रदेश में अन्य दूसरे टूरिस्ट प्लेस को भी एक बड़े और अच्छे पर्यटन स्थल के रूप में प्रोमोट करना चाहती है इसलिए सरकार ने अपनी पत्रिका Uttar Pradesh -Apar Sambhavnayen में केवल उन ऐतिहासिक स्थलों का जिक्र किया है जो प्रसिद्ध नहीं हैं। और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सिर्फ ताजमहल ही नहीं कुछ और फेमस टूरिस्ट प्लेस जैसे सारनाथ (जो कि हिन्दू, बुद्ध, जैन लोगों के लिए तीर्थस्थल है ) और कुशीनगर को भी बुकलेट से हटाया है ताकि पर्यटकों का ध्यान कुछ उस तऱफ भी जाये । इस लिए कुछ अन्य छोटे पर महत्वपूर्ण टूरिस्ट प्लेस को जगह दी गयी जिसका मकसद उत्तर प्रदेश को एक टूरिस्ट हब के रूप में बनाना है।

Social Media में ताजमहल और उत्तर प्रदेश सरकार को लेकर हो रहे वायरल के बारे में उत्तर प्रदेश सरकार की पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा ने नीचे दिए वीडियो में स्पष्ट किया है कि ताजमहल का नाम दी गई पर्यटन सूची में क्यों नहीं है।

 

और उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल ही में 27 सितम्बर 2017 को “U.P. Pro-Poor Tourism Development Project” के अंतर्गत आगरा के होने वाले विकास का जिक्र किया है।

agra development

यहाँ तक कि uptourism की official site के home page पर भी ताजमहल की फोटो है

uptourism-have-tajmahal-on-home-page

यहाँ तक की प्रमुख पर्यटन स्थल में आगरा-फतेहपुर सीकरी का नाम सबसे पहले है।

topdestination-uptourism

 

और यदि आप सोच रहे हैं कि ये भी तो हो सकता है site updated ना हो तो आपको बता दें, site last time 1 may, 2017 को update हुई थी, yogi adityanath के मुख्यमंत्री बननें के काफी बाद।

uptourism-last-updated-date

जिस tourist place से सरकार को इतना फायदा हो और जिसके लिए सरकार बेहतर बनाने के लिए निरंतर प्रयास कर रही हो, उसे हटाने की गलती क्यों करेगी ?

तो हम देशवाशियों का इस तरह की वायरल खबर फ़ैलाने वालों से अनुरोध है हर जगह जातिवाद/धर्मवाद फैलाना बंद करें। ताजमहल भारतवर्ष की अनमोल धरोहर है और हमेशा रहेगी।

Share the News and Let the people know the truth
Related Posts
comments

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this:
Read previous post:
verifykhabar ahinsa parmo dharma
VerifyKhabar के विचार अहिंसा परमो धर्मः और गाँधी जी के बारे में viral message पर

वैसे आजकल गाँधी जी के बारे दुष्प्रचार करना सोशल मीडिया में आम बात हो गई है जैसा कि हम "गाँधी...

Close